Home Politics केजरीवाल मॉडल के मुरीद हुए पोलैंड के राजदूत, दिल्ली के साथ मिलकर काम करने की जताई इच्छा

केजरीवाल मॉडल के मुरीद हुए पोलैंड के राजदूत, दिल्ली के साथ मिलकर काम करने की जताई इच्छा

by HE Times
नई दिल्ली/ 21 अक्टूबर 2021/एचई टाईम्स ब्यूरो

रत में पोलैंड के राजदूत प्रो. एडम बुराकोवस्की भी केजरीवाल मॉडल के मुरीद हो गए हैं। राजदूत प्रो. एडम बुराकोवस्की ने आज दिल्ली सचिवालय में मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल से मुलाकात की और दिल्ली के साथ मिलकर काम करने की इच्छा जताई। इस दौरान उन्होंने मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने नेतृत्व में दिल्ली सरकार द्वारा दिल्ली में किए जा रहे ऐतिहासिक विकास कार्यों की जमकर तारीफ की।
प्रो. एडम बुराकोवस्की ने सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट और पर्यटन के क्षेत्र में दिल्ली के साथ मिलकर काम करने की इच्छा जाहिर की। साथ ही, उन्होंने ट्वीन सिटी को लेकर समझौता करने का प्रस्ताव भी रखा। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि भारत में पोलैंड के राजदूत प्रो. एडम बुराकोवस्की के साथ बैठक सफल रही। बैठक में सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट के साथ-साथ पर्यटन पर पोलैंड के साथ दिल्ली के सहयोग की संभावनाओं सहित कई मुद्दों पर चर्चा की। हम पहले से ही सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट पर काम कर रहे हैं, लेकिन फिर भी हमें इसमें पोलैंड की सहायता लेने में खुशी होगी।
मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि ठोस कचरा प्रबंधन (सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट) मामले में पोलैंड की विशेषज्ञता लेने में हमें बहुत खुशी होगी। हम इस मामले में पोलैंड की तरफ से विशेषज्ञता देने के लिए मिले प्रस्ताव से बहुत प्रसन्न हैं।

दिल्ली सरकार के शहरी विकास मंत्री दिल्ली में इस मामले को देख रहे हैं। इस संबंध में शहरी विकास मंत्री से विस्तार से भी चर्चा कर सकते हैं और विशेषज्ञता देने की इच्छुक पोलैंड की टॉप कंपनियां अपना प्रजेंटेशन दे सकती हैं। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने आगे कहा कि हम पहले ही, दिल्ली में सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट पर काम करना शुरू कर चुके हैं, लेकिन हमें पोलैंड के सहयोग से अपने प्रयासों को और आगे बढ़ाने में खुशी होगी। इसके मद्देनजर आगे भी विस्तार से विचार विमर्श किया जाएगा।
मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि हमें उम्मीद है कि दिल्ली में पैदा होने वाले सॉलिड वेस्ट को हम अगले तीन से चार साल के अंदर साफ करने में सफल होंगे और यमुना नदी को प्रदूषण रहित बनाने में कामयाबी हासिल कर लेंगे। लेकिन पोलैंड के इच्छुक विशेषज्ञ शहरी विकास मंत्री के साथ इस संबंध में अपने अनुभव साझा कर सकते हैं। जहां तक पर्यटन, कला और संस्कृति की बात है, यह सारा काम उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया की देखरेख में किया जा रहा है।
मुख्यमंत्री ने पोलैंड के राजदूत को सुझाव दिया कि आप इस संबंध में डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया के साथ विचार विमर्श कर सकते हैं। साथ ही, ट्विन सिटी समझौते को लेकर भी उपमुख्यमंत्री के साथ वार्ता कर सकते हैं।
मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने ट्वीट कर कहा, ‘‘भारत में पोलैंड के राजदूत महामहिम प्रो. एडम बुराकोवस्की के साथ बैठक सफल रही। बैठक में ठोस अपशिष्ट प्रबंधन के साथ-साथ पर्यटन पर पोलैंड के साथ दिल्ली के सहयोग की संभावनाओं सहित कई मुद्दों पर चर्चा की।’’
वहीं, पोलैंड के राजदूत प्रो. एडम बुराकोवस्की ने कहा, ‘‘मैं इंडिया अगेंस्ट करप्शन के दिनों से ही आपके (सीएम अरविंद केजरीवाल) काम का अनुसरण कर रहा हूं और मैं आपके काम को देखकर बहुत प्रभावित हूं। साथ ही, मैं आपके नेतृत्व में दिल्ली सरकार द्वारा दिल्ली में किए जा रहे ऐतिहासिक विकास कार्यों से भी बेहद प्रभावित हूं।
चांदनी चौक में मेरा कई बार आना हुआ। मैं इस बात से चकित हूं कि पूरे क्षेत्र का पुनर्विकास कितने सुंदर तरीके से किया गया है। दिल्ली सरकार द्वारा सरकारी स्कूलों में ईमानदारी पूर्वक किया गया कार्य बहुत प्रेरणादायक है। पोलैंड, सार्वजनिक सुविधाओं को आगे बढ़ाने में दिल्ली के साथ मिलकर काम करना चाहता है और हमें ठोस अपशिष्ट प्रबंधन में सहयोग करने में खुशी होगी।’’

पोलैंड के राजदूत प्रो. एडम बुराकोवस्की ने आगे कहा कि पोलैंड दिल्ली में सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट सिस्टम को मजबूत करने में मदद कर सकता है। पहले पोलैंड में भी सॉलिड वेस्ट एक चुनौती हुआ करता था, लेकिन हमने सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट की दिशा में कुशलता पूर्वक काम किया। आज हमारे यहां नदी के किनारे समुद्र तट हैं और देश में हर तरफ सफाई है। हमें सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट में दिल्ली की मदद करने के लिए अपने समाधान साझा करने में खुशी होगी। मैं समझता हूं कि दिल्ली को नुकसान पहुंचाने वाले प्रदूषण का एक बड़ा हिस्सा दूसरे राज्यों से आता है, लेकिन ठोस समाधान लागू करने से काफी हद तक इस समस्या से निजात मिल सकती है।

You may also like

Leave a Comment

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More

Privacy & Cookies Policy